July 2020 India Letter

जुलाई 2020 

प्रिय पास्टर, अगुवे, संचालक और छात्रजन  

दप्रिण कै रोप्रलना, यु०एस०ए० से आपको अप्रिनंदन, जब की आप इस महामारी कोरोना के अप्रनप्रचचत दौर से हो कर  गुजर रहे है, मैिार्थना करता ह ूँ प्रक परमेचवर की ओर से आप आशीप्रित हो और जब आप एक बहुत प्रवशाल आत्माओ  की कटनी की ओर देख रहे है, मै आप को बताना चाहता ह ूँ प्रक 

आप अके ले नहीं है ! 

इस तालाबंदी के दौरान अके लापन समस्त संसार को ििाप्रवत कर रहा है। हम अपने सार्ी प्रवचवाप्रसयों, प्रमत्रो, यहां  तक की अपने पाप्ररवाप्ररक जानो के सार् संगती करने में अिम अनुिव कर रहे है, प्रजन के सार् आप यात्रा करते र्े  वह अब एक सार् जमा नहीं हो सकते है। यह अलगाव और अके लापन हममें से कुछ के प्रलए प्रवनाशकारी हो सकता  है। मै आप को बताना चाहता ह ूँ प्रक आप यह अनुिव न करे प्रक आप अके ले है। 

  1. हम प्रनरंतर परमेचवर की उपप्रस्र्प्रत मे बने रहते है और पप्रवत्र आत्मा हमारे सार् रहता है जो प्रनरंतर हम को  प्रवश्राम िदान करता है। 
  2. आप्रत्मक सेना हमारे चारो तरफ है। हमारे पास यह वास्तप्रवक आप्रत्मक सेना है जो हमारी तरफ से आप्रत्मक  युद्ध करने के प्रलए तैयार है। 2 राजा: 6:17। 
  3. हमारे पास गवाहों का बादल हैं प्रजसका वणथन इब्राप्रनयों की पत्री 12: 1 में प्रकया गया है, 4. हमारे पास हमारी कप्रलप्रसयाए, हमारे स्ूल, और हमारे प्रवचवासी प्रमत्र है, जो हम पर प्रवचवास करते है और  हमारे प्रलए िार्थना कर रहे है। 
  4. समस्त संसार में हमारे पास प्रवचव प्रमशन कें द्र (लाइव स्ूल) के अगुवे, और छात्र है जो प्रनरंतर हमारे प्रलए  िार्थना कर रहे है। 
  5. हमारे पास आपके प्रलए िार्थना करने के िप्रत समप्रपथत हजारों मध्यस्र् हैं। 

आप अके ले नहीं है ! 

कृपया इस छोटे वीप्रियो को देखने के प्रलए नीचे प्रदए गए प्रलंक पर क्लीक करे  

https://youtu.be/LWj13NFq6MU 

परमेचवर आप को बहुतायत से आशीि दे, 

प्रिक टीि 

प्रवचव प्रमशन कें द, इप्रडिया टीम .